क्या आप को ज़रूरत है सनस्क्रीन की हर मौसम में?

क्या आप को ज़रूरत है सनस्क्रीन की हर मौसम में?

सनस्क्रीन को लेकर अक्सर हम गलतफहमी में रहते हैं, इसलिए हम ठंड और मॉनसून में सनस्क्रीन को इस्तेमाल करना भूल जाते हैं. सनस्क्रीन  का मौसम के तापमान से कुछ लेना-देना नहीं है. ये कोई एसी या खीरे का जूस नहीं होता है जिसे हम अपने स्किन को ठंडक पंहुचाने के लिए इस्तेमाल करें, बल्कि सनस्क्रीन  तो हमारे स्किन को सूरज के हानिकारक किरणों से बचाता है.
 
सनस्क्रीन का कब करें इस्तेमाल?
सनस्क्रीन  को यूज़ करने का सिर्फ एक ही रूल है, आप इसे हमेशा यूज़ करें. चाहें आप घर में हो या बाहर, विंटर हो या मॉनसून या फिर बादलों से घिरा हुआ दिन हो, सनस्क्रीन  को अपने चेहरे पर लगाना बिलकुल न भूलें. ( जानें 5 शानदार सनस्क्रीन्स के बार में जो आपको मिलेंगे 500 रु के अंदर)
 
कितने और किस-किस तरह के होते हैं सनस्क्रीन?
ऐसे तो जेल, क्रीम, वाटरप्रूफ, स्प्रे के रूप में सनस्क्रीन की कई वेराइटी में मिल जाएंगे, लेकिन सनस्क्रीन आमतौर पर दो तरह के होते हैं - Physical और Chemical. फिजिकल सनस्क्रीन  में ज़िंक ऑक्साइड और टाइटैनियम ऑक्साइड मौजूद होतें हैं, जो सूरज की UVA और UVB रेज़ को रिफ्लैक्ट करते हैं. पर ऐसे सनस्क्रीन आपकी स्किन पर एक सफेद परत छोड़ देते हैं. वहीं केमिकल सनस्क्रीन  UVB रेज़ को अब्ज़ॉर्ब कर लेता है. ये सनस्क्रीन आपके फेस पर कोई सफेद परत  नहीं छोड़ता है. इनके अलावा सनस्क्रीन  की तीसरी कैटेगरी है Broad Spectrum सनस्क्रीन. ये सनस्क्रीन ,फिजिकल या केमिकल दोनों में से कोई भी हो सकता है और UVA और UVB दोनों से आप को बचाता है. आजकल मार्केट में टिंट वाला सनस्क्रीन भी मिल रहा है जिसे आप लाइट फाउंडेशन की तरह इस्तेमाल कर सकती हैं ( डे-टाइम वेडिंग में कैसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल, जानने के लिए यहां क्ल्कि करें)
 
 
नैचुरल सनस्क्रीन  क्या है?
कैरट सीड्स, रैस्पबेरी सीड्स, सीसम तेल और नारियल तेल को अपने स्किन को सूरज की किरणों से बचाने के लिए नैचुरल सनस्क्रीन  की तरह इस्तेमाल कर सकती हैं. इन इंग्रीडिएंट्स वाले हर्बल सनस्क्रीन का भी इस्तेमाल कर सकती हैं (घरेलू नुस्खों से करें टैनिंग को दूर, कैसे? जानने के लिए यहां क्लिक करें).

क्या होता है SPF?
SPF मतलब Sun Protection Factor. सनस्क्रीन  में SPF जितनी ज़्यादा होगी, आपकी स्किन सूरज के हानिकारक किरणों से उतनी देर तक सुरक्षित रहेगी. आपकी सनस्क्रीन  आपको इन हानिकारक किरणों से आपको कितने देर तक बचा कर रखेगी इसे आप भी खुद कैलकुलेट कर सकती हैं. आपको बस ये करना है कि जो सनस्क्रीन  आप खरीद रहीं उस पर लिखे SPF को 10 से गुणा कर दें. जैसे अगर आपके सनस्क्रीन  पर SPF 25 लिखी हुई है तो 25 को 10 से गुणा करें (25X10= 250). इसका मतलब आपकी सनस्क्रीन  आपको 250 मिनट आपकी स्किन को सूरज की किरणों से बचा कर रखेगी.
 
क्या होगा अगर आप सनस्क्रीन इस्तेमाल नहीं करेंगी?
अगर आप अपनी स्किन को सूरज की किरणों से बचा कर नहीं रखेंगी तो आपको झुर्रि और फाइन लाइन्स जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा. इतना ही नहीं, आपकी स्किन के बिल्डिंग ब्लॉक  कहे जाने वाले कॉलेज़न और एलास्टिन टूट जाते हैं. इसके अलावा टैनिंग, डार्क स्पॉट्स, पिग्मेंटेशन, असमान रंगत और चेहरे पर दाग-धब्बे जैसी समस्या भी आपके स्किन के लिए आम हो जाती हैं. ( क्या आपको मालूम है कि कौन-सी चीज़ें आपकी स्किन की उम्र घटा रही हैं, जानने के लिए यहां क्लिक करें)
 
सनस्क्रीन लगाने का क्या है सही तरीका ?
आप सनस्क्रीन  को क्लीनज़िंग,टोनिंग और मॉइश्चराइज़िंग के बाद लेकिन मेकअप के पहले अपने स्किन पर लगाए. इसे हमेशा घर से निकलने के 15 से 20 मिनट पहले लगाए ताकि ये आपकी  स्किन में अच्छी तरह समा जाए. लेकिन आप फिजिकल सनस्क्रीन यूज़ कर रहीं तो आप इसे बाहर निकलने के समय लगाए. आपकी सनस्क्रीन की SPF कितने देर की है इस बात का ध्यान रखें और SPF टाइम खत्म हो जाने पर इसे दोबारा लगाएं. अगर आपकी क्रीम की SPF 10 से 25 है तो आप को सनस्क्रीन अलग से लगाने की ज़रुरत नहीं है ( क्या आपके स्किन प्रोडक्ट्स अच्छा रिजल्ट नहीं दे रहें, क्यों? जानने के लिए यहां क्लिक करें).
 
दमकती त्वचा, शाइनी बाल और ब्यूटी टिप्स पाने के लिए यहां क्लिक करें.
 
पाना है ब्लैकहेड्स से छुटकारा, तो यहां क्लिक करें.
 

 

This page printed from: https://www.fashion101.in/news/sunscreen-365-days-4842911-NOR.html?seq=1