मैं क्यों रेड लिपस्टिक से डरती थी

मैं क्यों रेड लिपस्टिक से डरती थी

मैं बचपन से ही मेकप की दीवानी रही हूं. जब छोटी थी तो अपनी मम्मी की लिपस्टिक उनसे कहीं ज़्यादा इस्तेमाल करती थी और उसके बाद पूर घर में उसे लगाकर घूमती रहती थी. मुझे पूरा यकीन है की अगर उस समय मोबाईल फोन होते तो मैं पूरे दिन अलग-अलग रंगों की लिपस्टिक लगाकर अपनी selfies खींचती रहती. पर जब भी मैं उनकी रेड लिपस्टिक लगाती थी, पता नहीं क्यों मैं उसे तुरंत पोछ लेती थी. मुझे लगता था, कि ये तो कुछ ज़्यादा ही हो गया! मैं कभी भी उसमें comfortable नहीं रहीं हूं. 
 
मैं लगभग हर कलर की लिपस्टिक लगा लेती हूं (जिसमें orange और purple भी शामिल हैं) पर लाल रंग के नाम से ही मेरा मन अजीब हो जाता था. और ये मेरे teenage और twenties में भी जारी रहा. मेरे दिमाग में हमेशा से ये बात थी की bold और bright red lipsticks फिल्मों की vamps के लिए हैं, ना कि sophisticated young ladies के लिए. और रेड के darker shades (maroon और burgundy) आंटियों के लिए. मुझे हमेशा से इस कलर ने fascinate किया है पर कभी भी वो सही शेड नहीं ढूंढ पायी जो vamp और aunty के बीच का हो. इनमें कुछ भी shades girly नहीं थे.
 
और फिर एक दिन M.A.C में एक makeup consultant ने मुझे रेड का एक शेड suggest किया और मैंने इस रंग को लेकर अपने मन में बैठे डर के बारे में उसे बताया. उसने मुझे काफी समझाया कि ये शेड मेरी skin tone के लिए बिल्कुल perfect है. काफी बार मना करने के बाद बड़े ही बेमन से मैं तैयार हुई और vanity stool पर आंखें बंद कर के बैठ गई. क्योंकि मैं ये सब होते हुए नहीं देख सकती थी, मैं बस इससे छुट्टी चाहती थी. पर जब मैंने आंखे खोली तो मैं हैरान रह गई, ना तो मैं vamp लग रही थी और ना ही aunty. मुझे मेरा वाला रेड मिल गया था - M.A.C का Viva Glam I.
 
तब से लेकर अभी तक मैं अलग-अलग brands की 3  रेड लिपस्टिक्स खरीद चुकी हूं. और अब मैं बेसब्री से इंतजार कर रही हूं L’Oreal Pure Reds Color Riche collection को try करने का.    
 

 

This page printed from: https://www.fashion101.in/news/FAS-BLOG-red-lips-blog-4900918-NOR.html?seq=1